डिजी गाँव प्रोजेक्ट – नि:शुल्क वाईफाई चौपाल सेवा

Free Wifi Chaupal Service

Digi Gaon Project – Free Wifi Chaupal Service – केंद्र सरकार ने ज्वार निर्वाचन क्षेत्र के धनौरी कलान गांव में डिजी गाँव प्रोजेक्ट / डिजिटल ग्राम योजना के तहत वाई-फाई चौपाल शुरू कर दिया है। इस डिजिटल ग्राम योजना के तहत, केंद्र सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा,कौशल विकास और स्वास्थ्य सेवा प्रदान करेगी।

Digi Gaon Project – Free Wifi Chaupal Service

डिजी गाँव प्रोजेक्ट – नि:शुल्क वाईफाई चौपाल सेवा

ये वाईफाई चौपाल गांव स्थित कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) द्वारा प्रबंधित किए जाएंगे। ये केंद्र ग्रामीण लोगों के लिए डिजिटल बुनियादी ढांचे और इंटरनेट के लिए होंगे। इसके अलावा, केंद्र सरकार दिसंबर 2018 तक पूरे देश में 700 गांवों में इस सुविधा को शुरू करने जा रही है।

केंद्र सरकार कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) की कुल संख्या का विस्तार करने जा रही है जो लगभग 2.5 लाख ग्राम पंचायतों को कवर करने के लिए बुनियादी इलेक्ट्रॉनिक सेवाएं प्रदान करती है। इसके अलावा, केंद्र सरकार डिजिटल इंडिया पहल के तहत गांवों के लिए सब्सिडी योजना शुरू करने जा रही है।

वाईफाई चौपाल 20 मई 2018 को ज्वार में शुरू किया गया था। ये वाईफाई चौपाल सभी गांवों को वाई-फाई नेटवर्क से जोड़ता है।

Digi Gaon Project – Free Wifi Chaupal Service

Tamil Nadu Patta Chitta Online Application – www.eservices.tn.gov.in

डिजी गाँव प्रोजेक्ट – डिजिटल ग्राम योजना की सुविधाएं

केंद्र सरकार ने गांवों के विकास के लिए डिजी गाँव प्रोजेक्ट शुरू किया है और उन्हें आत्मनिर्भर बना दिया है। सरकार ने 110 गांवों में पहले से ही सैनिटरी नैपकिन विनिर्माण सेवाएं स्थापित की हैं। इसके अलावा, सरकार इन सेवाओं को दिसंबर 2018 तक 6,000 गांवों में भी विस्तारित करेगी। यहां इस योजना की कुछ महत्वपूर्ण विशेषताएं हैं –

  • ये वाईफाई चौपाल गांवों के लोगों को कम लागत वाली इंटरनेट सुविधाएं प्रदान करेंगे। इसके अलावा, यह लोगों को मोमबत्ती, सैनिटरी नैपकिन, एलईडी बल्ब, स्वास्थ्य सेवा इकाइयों आदि के निर्माण के लिए कुटीर उद्योगों की स्थापना के लिए सहायता प्रदान करके उद्यमी बनने में सक्षम बनाएगा।
  • कॉमन सर्विस सेंटर डिजिटल सेवाओं के वितरण के माध्यम से लोगों को इग्नू और एनआईओएस दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रमों के माध्यम से नामांकन करने में मदद करेंगे। अब तक देश में 2.91 लाख सीएससी की कुल संख्या है।
  • शुरुआत में, केंद्र सरकार इस परियोजना को पियाला और दयालपुर (हरियाणा में), चंदांकियारी पूर्व और शिवबुबुदीह (झारखंड में) और धनौरी कलान और सुल्तानपुर (उत्तर प्रदेश में) में शुरू करेगी।

इन सबके अलावा, ये डिजी गाँव नियमित रूप से आधार, बैंकिंग, टेलीमेडिसिन, शिक्षा और वित्तीय सेवाओं जैसी सीएससी सेवाएं भी प्रदान करेंगे। सभी लोग आय प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, पेंशन योजना, मोबाइल रिचार्ज इत्यादि के लिए अपने घर से आवेदन कर सकते हैं।

3 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *